शेयर बाजार से पैसा कैसे कमाया जा सकता है

share bazar se paise kaise kamaye
प्रत्येक निवेशक शेयर बाजार से ज्यादा से ज्यादा कमाई करने की सोच रखता है। चाहे उसका स्टॉक मार्केट के क्षेत्र में उसका अनुभव कम हो या ज्यादा। ऐसा सोचना आसान है। लेकिन अपने पैसे की सुरक्षा के साथ – साथ अच्छी कमाई करने के लिए, एक अच्छी रणनीति की भी जरूरत होती है।

शेयर बाजार में निवेश करने के लिए विवेक, समझ और रणनीति के साथ-साथ धीरज रखना भी बहुत ही जरूरी है। अच्छी कमाई करने का मूलमंत्र इन्ही बातों में छिपा हुआ है। ये बातें ना सिर्फ शानदार रिटर्न देने की काबिलियत रखती हैं, बल्कि आपके पैसे को भी डूबने से भी बचाती हैं।

निवेश करना बहुत ही सरल है, मगर इसे खेल नहीं समझना चाहिए। मुनाफा कमाने के लिए बाजार की समझ तो जरूरी है ही, उसके साथ साथ आपको धैर्यशील भी होना जरूरी है। शेयर बाजार में सफल होने का कोई फॉर्मूला या फिर शॉर्ट-कट नहीं है। मगर कुछ बातों को अमल में लाया जाए तो मुनाफा बढ़ाया जा सकता है। तो आज हम उन्ही के बारे में बात करेंगे।

अपना होमवर्क पूरा करे।
दिग्गज वैश्विक फंड के प्रबंधक पीटर लिंच का कहना है की, “यदि आप किसी कंपनी के बारे में अध्ययन नहीं करते हैं, तो अच्छे शेयर का चयन करना जुआ ही है। आप अपने पत्ते देखे बिना ही अपनी चाल चल रहे हैं.” लिंच ने कहा कि निवेश सिर्फ वहीं करें, जिसके बारे में आपको अच्छी तरह से पता हो। ऑनलाइन फाइनेंस पोर्टल फाइनेंस के संस्थापक और सीईओ दिनेश रोहिरा का मानना है कि बाजार से कमाई करने का कोई शॉर्ट-कट नहीं है। उन्होंने कहा, “धीरज के साथ गहन मंथन करना बहुत ज्यादा जरूरी है। अच्छे बिजनेस में निवेश करना ही बेहतरीन विकल्प है।”

बिजनेस में करें निवेश
निवेशकों को शेयर की कीमत में नहीं, बल्कि कंपनी के बिजनेस में निवेश करना चाहिए। आपको समझना चाहिए कि कम्पनी का मैनजमेंट कैसा है। आईआईएफएल सिक्योरिटीज के अभिमन्यु सोफट ने कहा, “किसी भी बिजनेस को समझना, कंपनी की समझ को बेहतर करता है। इससे निवेश करने के लिए निर्णय लेना ओर भी सरल हो जाता है।”

उदाहरण के लिए वॉरेन बफे के निवेश का तरीका यही है कि वे उन्हीं कंपनियों में निवेश करते हैं, जिनके बिजनेस के बारे में वो समझ रखते हैं। उन्होंने 1988 में कोका कोला में $1 बिलियन का निवेश किया था। कंपनी ने 30 सालों तक 10 फीसदी की दर से रिटर्न दिया। इस तरह वॉरेन बफे का इन्वेस्टमेंट उन्ही कम्पनियो में होता है, जिनके बिजनस मॉडल को वो अच्छे से समझते है।

भेड़चाल से रहें दूर

किसी परिचित, परिवार जन या फिर दोस्त की बातों में आकर बेकार कंपनियों में निवेश करना पैसे में आग लगाने जैसा है। दूसरे लोग निवेश कर रहे हैं, इसलिए आप भी निवेश करेंगे- इस तरह की सोच से हमेशा बचना चाहिए। कई लोगों ने दूसरों की देखादेखी कई कंपनियों में निवेश किया और उन्हें बाद में पछताना पड़ा।

उदाहरण के लिए रिलायंस पावर के आईपीओ को 14.4 गुना तक सब्सक्राइब किया गया था। कंपनी को रिटेले निवेशकों से 19.5 लाख आवेदन मिले थे। आईपीओ का इश्यू प्राइस 450 रुपये था। इस शेयर की 2019 में मौजूदा कीमत महज 3.65 रुपये ही है। ऐसे कई उदाहरण बाजार में मौजूद हैं।

अनुशासन का रखें ध्यान
निवेश में संयम और अनुशासन की बहुत ज्यादा जरूरत होती है। शेयर बाजार की स्थिति हमेशा ही अस्थिर रहती है। निवेशकों को अपने रिस्क ओर क्षमता का आभास होना चाहिए। गैर-जरूरी जोखिम से बचना चाहिए। टॉरस एमएफ के सीईओ वकार नकवी ने कहा कि धीरज और संयम निवेशकों के भविष्य की बेहतर तस्वीर बताता है।

पोर्टफोलियो में अलग अलग क्लास के एसेट
अपने पोर्टफोलियो में तमाम प्रकार के एसेट क्लास के शेयर को जगह दें। इस तरह से कम जोखिम में बेहतर कमाई की जा सकती है। आपके पोर्टफोलियो जितने प्रकार के शेयर होंगे, आपको उतना ही ज्यादा फायदा होगा। जब भी कोई सेक्टर नुकसान में होगा, उस वक्त दूसरा सेक्टर मुनाफे में होगा। जिससे आपका एवरेज बना रहेगा।

वास्तविकता में जीना बेहतर
काफी सारे इन्वेस्टर रातों रात पैसा बनाने की सोच रखते हैं। जबकि बाजार धीरे-धीरे रिटर्न देता है। कमाई करना सरल काम नहीं है। टॉरस एमएफ के नकवी ने कहा, “कोई भी स्टॉक लंबे समय तक आश्चर्यजनक रिटर्न नहीं दे सकता। ज्यादा उम्मीदें रखना गलत है।”

शेयर बाजार में घुसने का और निकलने का समय होता है। यह अवसर बाजार की स्थिति के अनुसार बार-बार आते ओर जाते है। इसलिए जरूरी यह है कि, आप अपने हाथ में कुछ पैसा रखें। यदि बाजार अपने आधार को मजबूत कर रहा हो, तो उस गिरावट से नहीं घबराना चाहिए।

अतिरिक्त फंड का ही करें निवेश
निवेशकों को सिर्फ अतिरिक्त फंड का ही इन्वेस्ट करना चाहिए। वे उस पैसे का भी इस्तेमाल कर सकते हैं, जो उन्हें छोटी अवघि में नहीं चाहिए। अस्थिरता के कारण छोटी अवधि में आपके पैसे की वैल्यू घट भी सकती है। बाजार चक्र में आपके पैसे की वैल्यू कम ज्यादा होती रहती है। इसलिए स्टॉक मार्केट में धैर्य बनाये रखे। निवेश के लिए सही सोच और मानसिकता की जरूरत होती है।

लगातार रखें नजर
सिर्फ निवेश कर देना ही पर्याप्त नहीं होता है। इसके बाद आपको बाजार की खबरों पर भी नजर रखना चाहिए। इसका असर शेयरों की कीमतों पर भी पड़ता है। उदाहरण के लिए कमर्शियल वाहनों के लिए एक्सल लोड लिमिट बढ़ने से अशोक लेलैंड के शेयर टूट गए। ओर कम्पनी की अच्छी कमाई होने पर शेयरों में उछाल भी ला सकती है।

कैसे होगी कमाई?
स्टॉक मार्केट इन्वेस्टर की बातें सुन कर आप मे निवेश करने की प्रबल इच्छा जागृत हो सकती है, मगर बाजार की गति कई बार समझ के परे होती है। इसलिए सही रणनीति का चयन जरूर करे। कई बार अच्छी से अच्छी रणनीति भी फेल हो जाती है। मौजूदा समय में सेंसेक्स रिकॉर्ड स्तर पर है, मगर अधिकतर शेयरों की कीमते इस वर्ष घटी है।

ऐसी पारीस्थितियां इन्वेस्टरों को असमंजस में डाल देती हैं, जहां पर वो कुछ भी नहीं समझ पाते है। निवेश लम्बे समय के लिए किया जाए तो बेहतर है। बाजार में एक रुपया भी कमाना आपकी कमाई है। यदि आपको किसी बिजनेस पर भरोसा नहीं, तो आप उसमें निवेश नहीं करें।

पिछले 15 साल में BSC सेंसेक्स 16 फीसदी की दर से बढ़ा है, जबकि इस दौरान सिम्फनी, बोरोसिल ग्लास वर्क्स, मयूर युनिकोटर्स, टीटीके प्रेस्टीज और बजाज फाइनेंस ने 50 फीसदी की दर से रिटर्न दिया है। बाजार से निकलने का समय भी बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है। इसलिए समय रहते अपना मुनाफा बुक करें और गेम से बाहर आ जाये।

मोजर बेयर इंडिया के शेयर की कीमत जुलाई 2003 में 110 रुपये से ऊपर थी। ओर जुलाई 2018 में यह रेट 2 रुपये पर आ गई। इस दौरान mtnl के शेयरों ने भी 105 रुपये से 15 रुपये तक कि गिरावट ली। आप सही स्टोक्स का चुनाव करने के लिए पेशेवर सलाहकारों की मदद भी ले सकते हो।

Updated: 04/11/2019 — 11:37 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

in hindi © 2018 Frontier Theme