Joint Saving Account क्या होता है, जॉइंट सेविंग अकाउंट कैसे खोलें, जॉइंट सेविंग अकाउंट कितने प्रकार के होतें हैं

Joint Saving Account in hindi : बैंक में saving account सबके पास होते है। परंतु joint saving account बहुत ही कम होते है। यदि आप joint saving account के बारे में जानकारी पाना चाहते हो आप हमारी यह जानकारी पूरी पढ़िये। आज हम आपको Joint Saving Account क्या होता है ? जॉइंट सेविंग अकाउंट हम कैसे ओपन कर सकते हैं | और Joint Saving Account ओपन करने के लिए हमें कौन कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। इनके बारे में विस्तार से बता रहे है। आइये शुरू करे।

Joint Saving Account Account Kya Hota Hai

वैसे तो सभी के पास अलग-अलग पर्सनल bank Account होना आवश्यक है। पर्सनल Account से आप अपना अलग कार्य कर सकते हैं। लेकिन कई बार ऐसी स्थिति आ जाती है। जहां पर जॉइंट सेविंग अकाउंट की जरूरत पड़ती है। अक्सर परिवार के सदस्यों को Joint Saving Account की जरूरत पड़ती है | ताकि परिवार के सभी सदस्य जॉइंट सेविंग अकाउंट को access कर सके | और उससे लेनदेन कर सके। Joint Saving Account दो या दो से अधिक सदस्य मिलकर ओपन करवा सकते हैं। या पहले से चल रहे किसी Account में किसी अन्य सदस्य का नाम भी जुड़वाया जा सकता है।

आप किसी भी बैंक में अपना Joint Saving Account खुलवा सकते हो। भारत की सभी बैंकों में जॉइंट सेविंग अकाउंट की सुविधा उपलब्ध है। rbi आदेशानुसार Account में अधिकतम सदस्यों की संख्या की कोई भी लिमिट नहीं है। जब भी कही बैंक 4 से अधिक सदस्यों को नही जोड़ते हैं। बैंक ऐसा इसलिये करते हे क्योकि Joint Saving Account सही तरीके से मैनेज किया जा सका सके। और आपको किसी प्रकार की असुविधा का सामना ना करना पड़े।

Joint Saving Account कितने प्रकार के होते है

जॉइंट सेविंग अकाउंट ओपन कराने से पहले यह जान ले की आखिर Joint Saving Account कितने प्र कार के होते हैं। आपके लिए कौन सा जॉइंट सेविंग अकाउंट सही रहेगा। इसके बारे में जानना बहुत जरूरी है | Joint Saving Account के प्रकारों के बारे में तो मुख्यतः Joint Saving Account कुल 4 प्रकार के होते हैं |
1. Either or Survivor
2. Former or Survivor
3. Latter or Survivor
4. Anyone or Survivor
मुद्रा लोन कैसे ले
बैंक बचत खाते पर ब्याज दर की जानकारी
1. Either or Survivor
आप जब भी Joint Saving Account Account खुलवाने जाते हो। यदि आप फॉर्म में एग्रीमेंट डाक्यूमेंट्स में Either or Survivor option को सिलेक्ट करते हो तो इसका मतलब यह होता है | कि इस Account में जितने भी मेंबर हैं | सभी मेंबर का Account में समान रूप से अधिकार मिलेगा। अब इसमें जितने भी Account Holder उन सब को समान अधिकार प्राप्त होता है। और उस अकाउंट को यूज़ कर सकते हैं | निम्नलिखित उदाहरण से और अच्छी तरह से समझ सकते हैं |
जैसे यदि कोई पति पत्नी Joint Saving Account ओपन करवाता है | तो Joint Saving Account में दोनों ही सदस्य का समान रूप से अधिकार प्राप्त है | दोनों सदस्य समान रूप से Saving Account को ऑपरेट कर सकते हैं किसी कारण दोनों पति – पत्नी में से किसी एक की मृत्यु हो जाती है तो दूसरा सदस्य आसानी से Account को ऑपरेट कर सकता है।

2. Former or Survivor Joint Saving Account
Joint Saving Account खुलवा रहे हो। और एग्रीमेंट के डाक्यूमेंट्स पर Former or Survivor ऑप्शन चुनते हो तो इसका यह मतलब होता है कि यह Account में केवल first Account Holder ही Joint Account को ऑपरेट कर सकता है । आप उदाहरण से और अच्छी तरह से समझते है।

मान लीजिये यदि कोई पति – पत्नी Joint Saving Account खुलवाते हे और Joint Account में पति first Account Holder है तो ऐसी स्थिति में joint saving account को केवल पति ही ऑपरेट कर सकता है। किसी कारण पति की मृत्यु हो जाती है तो इसके बाद मृत्यु सर्टिफिकेट के आधार पर ही Joint Account ऑपरेट कर सकती है।

3. Latter or Survivor Joint Account
आप Joint Saving Account खुलवाते वक्तएग्रीमेंट डाक्यूमेंट्स में Latter or Survivor option सेलेक्ट करतें हैं तो इसका मतलब यह है कि इस Saving Account को केवल सेकंड Account Holder ही ऑपरेट कर सकता है। आप इस उदाहरण की मदद से समझ सकते हैं |
पति पत्नी Joint Saving Account खुलवाते हे और उसमें पति first Account Holder है। तो इस अकाउंट को सिर्फ पत्नी ही ऑपरेट कर सकती है। किसी कारण पत्नी की मृत्यु होने के बाद डेथ सर्टिफिकेट के आधार पर पति इस Account को ऑपरेट कर सकता है।

Anyone or Survivor
आप जब Account open करते समय दो से अधिक Account Holder बनने चाहते हो तो आप Anyone or Survivor ऑप्शन सेलेक्ट चुनना है। तो इसका मतलब कि इस Account को कोई भी सदस्य ऑपरेट कर सकता है। याद रखिये ऊपर बताए गए पहले 3 प्रकार के Account में केवल 2 ही Account Holder हो सकते हैं।

Joint Saving Account ओपन करने के लिए आवश्यक दस्तावेज

Joint Saving Account ओपन करने के लिए उन्हीं दस्तावेजों की आवश्यकता होती है | जो कि एक पर्सनल Saving Account खुलवाने के लिये होती है। हम आपको अकाउंट खुलाने से सम्बंधित दस्तावेज बता रहे है। आप उन की मदद से Joint Account खुलवा सकते हो।
पहचान का प्रमाण पत्र – आधार कार्ड , राशन कार्ड , ड्राइविंग लाइसेंस ,वोटर आईडी कार्ड , पासपोर्ट आदि में से कोई एक से कोई एक

पते का प्रमाण पत्र – बिजली का बिल, राशन कार्ड , पानी , आधार कार्ड , वोटर आईडी कार्ड आदि में से कोई एक |
दोनों/सभी खाताधारक के पासपोर्ट साइज फोटो

ज्वाइण्ट अकाउण्ट कैसे खुलवाऐं, How Open A joint Account in hindi

आप बैंक में जाकर ज्वाइण्ट अकाउण्ट खुलवा सकते हो। या आप किसी सेविंग अकाउंट को ज्वाइण्ट अकाउण्ट में कन्वर्ट करवा सकते हैं। अगर आप नये सिरे ज्वाइन्ट अकाउण्ट के लिये आपको बैंक की ब्रान्च में जाना होगा। आपको बैंक अकाउंट ओपनिंग फाॅर्म माॅगना होगा। ज्यादातर बैंकों में joint Account खोलनें के लिये कोई अलग से फाॅर्म नही आता। साधारण अकाउण्ट ओपनिंग फाॅर्म पर ही ज्वाइन्ट अकाउण्ट खाते खोलने का विकल्प होता है। वहीं आप पहले से मौजूद खाते को ज्वाइण्ट अकाउण्ट में खुलवा रहे हैं तो आप बैंक को एक प्रार्थना पत्र देकर ऐसा कर सकते हैं। लेकिन अकाउण्ट ओपनिंग fourm आपको दोनो ही स्थिति में भरना होगा।

joint Account खुलवाने के लिये के सभी खाताधारकों के पहचान पत्र, व पते के प्रमाण पत्र, बैंक को देना होता है। उसके अलावा सभी के फोटो और हस्ताक्षर भी बैंक को देने होंगे। वही सभी खाताधारकों की काॅन्टेक्ट डिटेल भी बैंक लेती है।

मृत्यु के पश्चात लाभ किसे मिलेगा

यदि किसी कारण दुर्घटना वश प्रारम्भिक खाता धारक की मृत्यु हो जाती है । तो सेकेंडरी खाताधारक मृत्यु प्रमाण पत्र बैंक में जमा करके प्रारंभिक खाताधारक बन सकता है। इसके पश्चात खाता के सभी अधिकार उसके पास हस्तांतरित कर दिए जाते हैं।

ज्वाइंट अकाउण्ट खुलवानें के फायदे,  Joint Account ke fayde

  1. ज्वाइण्ट अकाउण्ट को एक से ज्यादा लोग संचालित कर सकते हैं।
  2. पति-पत्नी का ज्वाइंट अकाउण्ट होने से पति-पत्नी दोनो ही वित्तीय जरूरतों को पूरा करपाते हैं।
  3. बुजुर्ग व्यक्ति जो कि बैंक आने-जाने में असमर्थ हो तो उनके लिये ज्वाइण्ट अकाउण्ट काफी फायदेमंद होता है।
  4. किसी एक खाताधारक की मृत्यु के बाद पैसा आसानी से बैंक से निकाला जा सकता है।

ज्वाइण्ट अकाउण्ट के नुकसान,  Joint Account ke nuksan

  1. Joint Account मेें लेन-देन को लेकर काफी दिक्कते आती हैं। बहुत सी बार ऐसी समस्याऐं सामने आती है कि एक खाताधारक ने पैसे जमा किये तो दूसरे खाताधारक ने पैसे निकाल कर खर्च कर लिये।
  2. अगर किसी एक खाताधारक का कोई अलग से loan है। और वह लोन नही चुकाता हे तो इसके कि चलते आपका सिबिल स्कोर खराब होता हैं। वही बैंक ज्वाइण्ट खाते से अपने पैसे की भरपाई कर लेती है।
  3. बहुत से बैंकिंग कार्य ऐसे होते हैं। यदि वो कार्य करना है तो जितने भी खाताधारकों हे उनकी अनुमति होना जरूरी होता है। यदि किसी की सहमति न बन पाने के कारण वो कार्य नही हो पाता है।

आपको हमने Joint Saving Account क्या है। Joint account kaise khole, इसके फायदे आदि जानकारी दी है। यदि आपको यह जानकारी अच्छी लगी हो तो आप अपने दोस्तों तक यह जानकारी शेयर करे। जिससे को इस महत्वपूर्ण जानकारी का फायदा सभी उठा सके।
बैंक खाते कितने प्रकार के होते है
Home Loan Kaise Le – Home Loan लेने का आसान तरीका

Updated: 05/10/2018 — 8:44 pm

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

in hindi © 2018 Frontier Theme