Categories
Uncategorized

ई बैंकिंग क्या है – e banking kya hai in hindi

ई बैंकिंग क्या है : विश्व में सबसे सुविधाजनक चीजो में नाम ले तो बैंकिंग का भी उसमे नाम जरूर आएगा। क्योकि बैंकिंग होती ही ऐसी। जिस तरह मनुष्य अब मोबाइल के बिना नही रह सकता है उसी प्रकार इंटरनेट, बैंकिंग के बिना नही रह सकता है। इंटरनेट, बैंकिंग के बिना ऐसा है जैसे बिना पेट्रोल का वाहन। अब तो आप समझ ही गए होंगे। वर्तमान समय में banking कितनी महत्वपूर्ण है। किस कारण सभी व्यकित को बैंकिंग करना जरुरी है। आज इस बैंकिंग जानकारी में सम्पूर्ण जानकारी दे रहे है। आप इस जानकारी को आखिर तक पूरा पढ़ना। जिससे आपको ई बैंकिंग का पूरी जानकारी मिल सके। ओर इस पोस्ट में हम ई बैंकिंग के फायदे ओर नुकसान के भी बारे में जानेंगे। आइये शुरू करते है बैंकिंग क्या है।
बैंकिंग क्या है

ई बैंकिंग क्या है

ई बैंकिंग एक अदृश्य है। जो किसी को नजर नही आता है। परंतु यह बहुत काम की चीज है। जिस प्रकार भुत किसी को नजर नही आता है। जब भी किसी को भी डरा देता है। बिलकुल ई बैंकिंग भी ठीक वैसा ही है। किसी को नजर नही आता है, जब भी यह पूरा काम कर देता है। अब ई बैंकिंग क्या है इसकी परिभाषा बता रहा हु।

ई बैंकिंग की परिभाषा : किसी भी बैंक द्वारा प्रदान की जा रही सेवाओं को किसी भी स्थान से कंप्यूटर, मोबाइल के द्वारा इन्टरनेट के माध्यम से प्रयोग करना ई बैंकिंग कहते है। इस ई बैंकिंग को कहि नामो से जानते है जैसे ई बैंकिंग, इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग।

ई बैंकिंग नाम कैसे पड़ा

क्या आपको पता है। इसका नाम नेट बैंकिंग क्यों पड़ा। यह दो चीजो से मिलकर यह नाम पड़ा है।
इंटरनेट + बैंकिंग
इसको इस्तेमाल करने के लिये इंटरनेट की आवश्यकता होती है।
बैंकिंग नाम इसलिये पड़ा। क्योंकि इसमें सभी कार्य बैंक का होता है। इसलिये बैंकिंग कहते है।
यह दोनों मिलकर काम करते है। इंटरनेट पर बैंक कार्य होता है। इसलिये इंटरनेट बैंकिंग, या ई बैंकिंग कहते है।

बैंकिंग के प्रकार

बैंकिंग के कई प्रकार है। इसको कई अलग अलग तरह से इस्तेमाल किया जाता है। आइये जानते है बैंकिंग कितने प्रकार की होती है। इसका इस्तेमाल किस प्रकार होता है।
इंटरनेट बैंकिंग : को करने के लिए इंटरनेट होना चाहिए। यह बैंकिंग इंटरनेट के माध्यम से होती है इसलिए इसे इंटरनेट बैंकिंग कहते है। इसे ई बैंकिंग के नाम से भी जानते है।
मोबाइल बैंकिंग : बैंकिंग कार्य को किसी मोबाइल एप्प पर करते है तो इस बैंकिंग को मोबाइल बैंकिंग कहते है। बैंक मोबाइल बैंकिंग को बढ़ावा देने के लिये सभी अपना एप्प निकालती है। जिससे मोबाइल बैंकिंग बहुत तेजी से बढ़े।
टेलीफोन बैंकिंग : यह भी बैंकिंग का एक रूप है। परंतु एक पुराना तरीका है। इसका इस्तेमाल बहुत ही कम होता है। यह बैंकिंग teliphone पर होता था।
एसएमएस बैंकिंग : जिस बैंकिंग कार्य को sms के जरिये करते है। उसे sms बैंकिंग कहते है।

ई बैंकिंग के कार्य

  • ई बैंकिंग (e banking) से एक खाते से किसी अन्य के खाते मे पैसे भेज सकते हो।
  • e banking से अपने खाते की शेष राशि की जानकारी प्राप्त करना
  • ई बैंकिंग की मदद से अपने bank account लेन-देन  की बैंक स्टेटमेंट देखना।
  • शेयर बाजार और अन्य विभ्भिन निवेश ऑनलाइन करना
  • बस, रेल व अन्य टिकट इन्टरनेट से बुक करवाना
  • अपना टैक्स का ऑनलाइन करना
  • ऑनलाइन DD डिमांड ड्राफ्ट के लिये फॉर्म भरना
  • अपने लोन और अन्य खातों का विवरण देखना।
  • जीवन बीमा, वाहन बीमा व अन्य बैंकिंग सेवाएं और उत्पाद ऑनलाइन खरीदना।
  • नया एफ-डी या अन्य खाता खोलना सकते हो।
  • ऑनलाइन सामान खरीदने में पेमेंट करना

टॉप पॉपुलर बैंकिंग बैंक

वर्तमान में सबसे ज्यादा बैंकिंग इन्ही bank से हो रही है। इनमे से sbi bank के ग्राहक सबसे ज्यादा है। इसलिए यह टॉप पर है। आप किसी भी बैंक से बैंकिंग का फायदा ले सकते हो। सभी बैंक एक जैसी सुविधा देती है।

बैंकिंग क्या है

Top 5 bank
sbi bank
hdfc bank
kotak bank
icici bank
axis bank

इंटरनेट बैंकिंग के लाभ

1. ऑनलाइन बैंकिंग से काफी सारे फायदे है। इसके माध्यम से आपके बैंको के सारे काम आसानी से घर पर ही हो जाते है जैसे:- आप कॉलेज की फीस भरना सकते हो, मोबाइल पेमेंट , बिल जमा करना और recharge करना या ऑनलाइन शोपिंग के लिए भुगतान ई बैंकिग (e banking) से किये जा सकते है।

2. नेट बैंकिग के उपयोग से ग्राहकों को बहुत फायदा होता है । साथ ही बैंक को भी इसका बहुत लाभ मिलता है। उन्हें ग्राहकों के भीड़ से निपटने के लिए अधिक कर्मचारियों की जरुरत नहीं पड़ती है, जोकि बैंक के लिए वित्तीय रूप से लाभप्रद होता है।

3. आप इसके माध्यम से आपकी बैंक के सभी कार्य कर सकते हो। जैसे बैलेंस देख सकते है। किसी के भी खाते में रुपये डाल सकते है। साथ ही fd, rd को भी खुलवा और बन्द करवा सकते है।

4. Net banking से आपको वो सभी सुविधाएं मिलती है जो हमें खुद bank जा कर प्राप्त करनी होती है। जैसे की आप बिना bank गए ही passbook, credit card, check book जैसे और भी कई चीजों के लिए ऑनलाइन ही apply कर सकते हैं।

5. जब भी आप पैसे की निकासी करते हे तो आपके मोबाइल पर तुरंत इसकी सुचना आ जाती है। जिस वजह से आप अपने खाते की निगरानी आसानी से कर सकते है।

नेट बैंकिंग के नुकसान

सभी कार्य में जितना फायदा होता है उसमें उतना नुकसान भी होता है। आपको हमने फायदा बता दिए है। अब नुकसान क्या है यह भी बता रहे है।

1. जब नेट बैंकिंग की जरुरत होती है और उस वक्त सर्वर डाउन हे तो आप कोई भी कार्य नही कर सकते हो। बहुत सी बार ऐसा भी होता है जब कोई पैसों का लेन देन करते वक्त कनेक्शन की गति धीमी या सर्वर डाउन हो जाता है तो आपको बहुत नुकसान हो सकता है।

2. नेटबैंकिंग (netbanking) का अकाउंट की जानकारी पता चल जाये तो आपकी बैंक में सभी रकम को वह तुरंत निकाल सकता है। जिससे आपको भारी नुकसान पहुंचा सकता है।

3. नेट बैंकिंग के कारण अब सभी व्यकित को आलसी बना दिया है। जिसका असर दूसरे कार्यो में भी नजर आता है।

4. बैंक नेट बैंकिंग को फ्री बताती है परंतु यह फ्री नही होता है। जब इसको इस्तेमाल करते हे तो आपसे कई प्रकार का चार्ज लिया जाता है।

नेट बैंकिंग कैसे करे सिखने के लिये क्लिक करे

इन्टरनेट बैंकिंग (internet banking) शुरू करने पर सावधानियां

1. आप हमेशा अपने कंप्यूटर या मोबाइल में ही नेट बैंकिंग इस्तेमाल करे। किसी अन्य के डिवाइस में इसका इस्तेमाल नही करना चाहिये। यह खतरनाक हो सकता है।

2. जिस कंप्यूटर, मोबाइल में इस्तेमाल करते है उसमें बिना काम आने वाली apps को डिलीट कर दे। और बिलकुल सही apps इनस्टॉल रखे। यह आपकी जानकारी को चुराते है। जिसका गलत इस्तेमाल करते है।

3. जिस समय इन्टरनेट बैंकिंग की आवश्यकता नहीं हो, उस समय या तो लॉगआउट कर लें अथवा इन्टरनेट ऑफ कर दें।

आपको हमने ई बैंकिंग (e banking) की पूरी जानकारी दे चुके है। आपको ई बैंकिंग के फायदे ओर नुकसान के बारे में भी जानकारी हो गई होगी। इसके अलावा अन्य और कोई जानकारी प्राप्त करनी है तो हने कमेंट कर सकते हो। हम उस प्रश्न का उत्तर देंगे। आपको यह पोस्ट अच्छी लगी तो शेयर जरूर करना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *