Categories
Uncategorized

इकाई दहाई सैकड़ा हजार – ikai dhai sekda hajar

2011 की जनगणना के हिसाब से भारत में 121 करोड़ लोग रहते है। परन्तु उनमे से तकरीबन 50 प्रतिशत लोगो को यह पता भी नही होगा कि करोड़ के बाद क्या आता है। इसलिये आज हम आपको इकाई से लेकर महा शंख तक की जानकारी देंगे। ओर बताएंगे कि इनके बीच में क्या – क्या आता है। और इनके पीछे कितने शून्य आते है। आइये जानते है। इकाई दहाई सैकड़ा हजार (ikai dhai sekda hajar)

इकाई दहाई सैकड़ा हजार अंतरराष्ट्रीय पद्धति से गणना
इकाई – 1
दहाई -10
सैकड़ा -100
हजार – 1000
दस हजार – 10,000
सौ हजार – 100,000
मिलियन – 1,000,000
दस मिलियन – 10,000,000
सौ मिलियन – 100,000,000
बिलियन – 1,000,000,000
दस बिलियन – 10,000,000,000
सौ बिलियन – 100,000,000,000
ट्रिलियन – 1,000,000,000,000
दस ट्रिलियन – 10,000,000,000,000
सौ ट्रिलियन – 100,000,000,000,000
एक क्वॉड्रिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,000
सौ क्वॉड्रिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,00,000
दस क्विंटिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,000
एक सॅक्सटिल्यन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000
सौ सॅक्सटिल्यन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000
दस सॅप्टिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000
एक ऑक्टिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000
दस नॉनिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000
एक डॅसिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000
सौ डॅसिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000
दस अनडॅसिलयन – 1,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000
सौ डुओडॅसिलयन – 100,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,00,000

इकाई दहाई सैकड़ा हजार हिंदी प्रणाली में
इकाई = १
दहाई = १०
सैकड़ा = १००
हजार = १,०००
दस हजार = १०,०००
लाख = १,००,०००
दस लाख = १०,००,०००
करोड़ = १,००,००,०००
दस करोड़ = १०, ००, ००, ०००
अरब = १, ००,००,००,०००
दस अरब = १०, ००,००,००,०००
खरब = १,००,००,००,००,०००
दस खरब = १०, ००, ००, ००, ००,०००
नील = १,००,००,००,००,००,०००
दस नील = १०,००,००,००,००,००,०००
पद्म = १, ००,००,००,००,००,००,०००
दस पद्म = १०,००,००,००,००,००,००,०००
शंख = १,००,००,००,००,००,००,००,०००
महाशंख = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००
अंत्या = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,०
महाअंत्या = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,
मध्या = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,०
महामध्या = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,
पारध = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,०
महापारध = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००
घून = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,०
महाघून = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००
अशोहिनी = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,०
महाअशोहिनी = १,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००,००

शंख के बाद मान काम में नही आता है। इसलिये इसके नीचे वाले मान को याद करने की जरूरी नही है। पर अगर आप चाहे तो जानकारी के लिये याद भी कर सकते हो।

आपको इकाई दहाई सैकड़ा हजार की यह जानकारी कैसी लगी। हमे जरूर बताये। हम आपके लिये हम ऐसे ही जानकारी लाते रहेंगे।

1 reply on “इकाई दहाई सैकड़ा हजार – ikai dhai sekda hajar”

Leave a Reply to Rahul Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *