बैंक क्या है इनके कार्य प्रकार

भारत के बैंकिंग व्यवस्था दो सौ वर्ष पुराना है। ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी 3 बैंक की शुरुआत की जिनमे बैंक ऑफ बंगाल, बैंक ऑफ बॉम्बे, बैंक ऑफ मद्रास थे। इलाहाबाद बैंक भारत (bharat) का पहला निजी बैंक था। इलाहाबाद बैंक भारत का पहला निजी बैंक था। भारतीय रिजर्व बैंक सभी बैंको से बड़ा है। रूपये छापने का कार्य (karya) भी यह बैंक (bank) करता है। बैंक क्या है bank kya hai

बैंक क्या हैबैंक (Bank) उस वित्तीय संस्था को कहते हैं जो जनता से राशि लेती है। और जनता को ऋण देती है। बैंक जमा राशि पर ब्याज देती है। जो बैंक से लोन लेती है उसे ब्याज लेती है। बैंक रुपयो का आदान प्रदान करती है। वर्तमान में बैंक और सुविधाये भी देने लग गया है। बैंक वर्तमान में बैंकिंग, लॉकर, लोन आदि सुविधाये देती है। बैंक क्या है bank kya hai

बैंक के कार्य

जनता से राशि लेकर जमा करना
जनता को ऋण तथा अग्रिम धन देना
ग्राहको के लिए एजेंट बनकर काम करना
विविध सेवाएँ प्रदान करना बैंक के कार्य bank ke karya

  1. बैंक खाते: यह बैंकिंग क्षेत्र की सबसे आम सेवा है। कोई भी व्यक्ति बैंक खाता खोल सकता है इनमे बचत खाता, चालू खाता या जमा खाता कौनसा भी अकाउंट खुलवा सकता है। बैंक कई प्रकार के अकाउंट की सुविधाये देती है।
  2. ऋण खाते: बैंक जनता को ऋण का भी कार्य करता है। बैंक की मुख्य कमाई लोन (loan) देना ही होता है। यह कई प्रकार का ऋण देती है। यह आवास ऋण, कार ऋण, व्यक्तिगत ऋण, शेयर के विरुद्ध ऋण और शैक्षिक ऋण आदि लोन ले सकते है।
  3. धन हस्तांतरण: बैंक विश्व में कोई भी जगह रूपये भेज सकता है। यह ऑनलाइन बैंकिंग, ड्राफ्ट, चेक तरह से रूपये भेज सकता है।
  4. क्रेडिट और डेबिट कार्ड: सभी बैंकें अपने ग्राहकों को क्रेडिट कार्ड देता है। जिससे उनको आसानी हो। यह इन कार्ड की मदद से कहाँ भी पेमेंट कर सकते हो। जब से यह कार्ड शुरू हुये हे जब से व्यकिय कैश बहुत कम अपने पास रखने लगे है।
  5. लाकर्स सुविधा : अधिकांश बैंकों के पास लाकर्स सुविधा उपलब्ध होती है जिसमें ग्राहक अपने महत्वपूर्ण दस्तावेज या कीमती वस्तु इनमे रख सकता है। जिनमे यह सुरक्षित है। वर्तमान में यह लाकर्स सुविधा इस्तेमाल करने लगे है।

बैंकों के प्रकार

केंन्द्रीय बैंक
सार्वजनिक बैंक
निजी बैंक
सहकारी बैंक
विकास बैंक
वाणिज्यिक बैंक

केंन्द्रीय बैंक

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया भारत का केंन्द्रीय बैंक है। यह स्थापना 1 अप्रैल 1935 में स्थापित किया गया था। यह बैंक भारत सरकार के के अनुसार चलता है। यह देश के सभी बैंकों को संचालन के लिए दिशा निर्देश जारी करती है। सभी बैंको को इसकी बात माननी होती है। रिजर्व बैक भारत की अर्थव्यवस्था को नियन्त्रित करता है। रिजर्व बैंक के बहुत से कार्य करती है।

भारतीय रिजर्व बैंक के कार्य

बैंक को दिशा निर्देश देना।
बैंको को लाइसेंस देना।
भारतीय रिजर्व बैंक बैंको के बैंकर की। तरह काम करता है।
ग्रामीणों जगह पर बैंको को खुलवाना
साख नियन्त्रित करना।
मुद्रा (currency) के लेन देन को नियंत्रित करना।
करेंसी जारी करता है और उसका विनिमय करता है यदि परिचालन के योग्य नहीं रहने पर यह नोटों और सिक्कों को नष्ट करता है।

सार्वजनिक बैंक

सार्वजनिक बैंक एक सरकारी बैंक होते है। इन बैंको में सरकार के ज्यादा शेयर होते है। इनमे सबसे मुख्य बैंक भारतीय स्टेट बैंक है। जो की पुरे भारत में है। सबसे ज्यादा अकाउंट भी इसी बैंको में है।
सरकारी प्राइवेट बैंक की लिस्ट

निजी बैंक

भारत में निजी बैंक भी बहुत है। इन बैंको में शेयर निजी हाथो में होते है। इनमे सबसे मुख्य बैंक hdfc, icici बैंक है। जो की पुरे भारत में है। इन बैंको में भी खाते बहुत है।

सहकारी क्षेत्र

सहकारी क्षेत्र ग्रामीण इलाके में होते है। यह बैंक ग्रामीणों के लिए बहुत उपयोगी होते है। यह ग्रामीणों को लोन आदि की सहायता देती है। इन बैंको को जरूरत पड़ने पर यह राज्य से लोन ले सकते है। प्राथमिक सहकारी बैंक केवल संबंधित गांवों में कार्य करते हैं।

भारतीय रिज़र्व बैंक आंकड़ों के अनुसार, 2017 में 31 राज्य सहकारी बैंक है।

सहकारी बैंकों की संख्या टॉप शीर्ष 10 राज्यों में इस प्रकार थी।
उत्तर प्रदेश (50), मध्यप्रदेश (38), महाराष्ट्र (31), राजस्थान (29), तमिलनाडु (23), आंध्र प्रदेश, बिहार, कर्नाटक, पंजाब और हरियाणा शामिल थे।

वर्तमान में भारत में 81वाणिज्यिक बैंक कार्यरत हैं।
वाणिज्यिक बैंक पूरे देश की किसी भी जिला और राज्य में अपनी शाखाएं स्थापित कर सकते हैं।
वाणिज्यिक बैंक विदेशों में शाखाएं खोल सकते हैं। जरूरत पड़ने पर यह वाणिज्यिक बैंक को भारतीय रिज़र्व बैंक से ऋण लेने का अधिकार है। यह इससे लोन ले सकता है।

विकास बैंक

इन बैंको का मुख्य कार्य विकास ही होता है। इसलिए इस प्रकार (parkar) का बैंक का नाम (bank ka naam) विकास बैंक हैं। इनका मुख्य कार्य व्यपार को बढ़ावा देना है।

विकास बैंक अन्य बैंको की तरह धन संग्रह करने का काम नही करती है।

यह बैंक कम समय के लिए लोन नही देती है। यह बैंक ज्यादा समय के लिए लोन देती है।

आईएफसीआई, आईडीबीआई, आईसीआईसीआई, IIBI, SCICI लिमिटेड, नाबार्ड निर्यातआयात बैंक, ऑफ इंडिया, राष्ट्रीय आवास बैंक, भारतीय लघु उद्योग विकास बैंक, पूर्वोत्तर विकास वित्त निगम

वाणिज्यिक बैंक

वाणिज्यिक बैंक वे बैंक होते है जो जनता से धन स्वीकार करते हैं और घरेलू, उद्यमियों, व्यवसायियों के लिए कर्ज (ऋण) देते हैं। इनके कई प्रकार के कार्य होते है। सबसे बड़ा वाणिज्यिक बैंक sbi bank (सबी बैंक) है। जो बैंक सरकारी बैंक और निजी बैंक हे वो सब वाणिज्यिक बैंक होते है। जैसे भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, इलहाबाद बैंक, यूको बैंक आदि

वाणिज्यिक बैंक के कार्य

विदेशी मुद्रा लेन देन
लाभांश या ब्याज का संग्रह / भुगतान
बिल व् चेक के माध्यम से धन संचय करना आदि।
लॉकर सुविधा

बैंक के लोन कौनसे है

भारत में जितने बैंक है यह सभी बैंक लोन देती है। बैंक की मुख्य कमाई लोन ही होता है। यह लोन कई प्रकार के होते है। इन सभी loan की ब्याज दर अलग अलग होती है। में आपको loan के लिंक दे रहा हु इससे जाकर पूरी जानकारी पढ़ सकते हो। बैंक इन हिंदी bank in hindi

Home loan
Gold loan
car loan
Dukan loan
Education loan
Bussiness loan

आपको bank kya hai, karya parkar की जानकारी कैसी लगी। यदि कोई और जानकारी प्राप्त करनी है तो कमेंट करे।

Updated: 05/03/2018 — 3:18 am

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

in hindi © 2018 Frontier Theme