Share market news hindi

General Insurance कंपनियों के प्रीमियम कलेक्शन में बंपर उछाल, हेल्थ सेक्टर में जोरदार बढ़ोतरी का असर

General Insurance कंपनियों के प्रीमियम कलेक्शन में बंपर उछाल, हेल्थ सेक्टर में जोरदार बढ़ोतरी का असर

General insurance companies: साधारण बीमा कंपनियों का ग्रॉस प्रीमियम कलेक्शन (General insurance companies premium collection) चालू वित्त वर्ष की जून में खत्म तिमाही में 13.8 प्रतिशत बढ़कर 44,436 करोड़ रुपये हो गया. इसकी मुख्य वजह स्वास्थ्य क्षेत्र (Health Sector) में कोविड-19 महामारी के चलते 31 प्रतिशत की बढ़ोतरी रही. पीटीआई की खबर के मुताबिक, केयर रेटिंग्स की जारी रिपोर्ट के मुताबिक, सभी आंकड़े दर्शाते हैं कि अब यह क्षेत्र कोविड-19 से पहले के लेवल पर लौट रहा है. हालांकि इंडस्ट्री का प्रमुख मोटर सेगमेंट लगातार पिछड़ रहा है और स्वास्थ्य आगे बढ़ रहा है.

जून तिमाही में प्रीमियम

रिपोर्ट के मुताबिक, स्वास्थ्य बीमा (General insurance) क्षेत्र की कंपनियों का प्रीमियम वित्त वर्ष 2021-22 की जून तिमाही के दौरान 30.9 प्रतिशत के उछाल के साथ 17,497.1 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. स्वास्थ्य बीमा क्षेत्र 39.4 प्रतिशत की हिस्सेदारी के साथ प्रीमियम कलेक्शन में सबसे आगे रहा. मोटर प्रीमियम कलेक्शन में 3.1 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई.

सिंगल निजी कंपनियों की हिस्सेदारी 4,222.8 करोड़ रुपये रही

इस तरह जून तिमाही में क्षेत्र की बाजार हिस्सेदारी घटकर 30.7 प्रतिशत रह गई, जो एक साल पहले समान अवधि में 38.3 प्रतिशत थी. इसके अलावा कुल स्वास्थ्य बीमा बिक्री में सिंगल निजी कंपनियों की हिस्सेदारी 4,222.8 करोड़ रुपये रही, जो पिछले साल की इसी अवधि की तुलना में 55.5 प्रतिशत ज्यादा है. वित्त वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही में उद्योग की कुल बढ़ोतरी 13.8 प्रतिशत बढ़कर 44,435.9 करोड़ रुपये रही. जो एक साल पहले इसी अवधि में 4.9 प्रतिशत घटकर 39,054.8 करोड़ रुपये थी.

2020-21 में कितना रहा कलेक्शन

साधारण बीमा कंपनियों का सकल प्रत्यक्ष प्रीमियम संग्रह (ग्रॉस डायरेक्ट प्रीमियम रिटेन) 2020-21 में 5.2 प्रतिशत बढ़कर 1,98,734.68 करोड़ रुपये रहा था. बीमा नियामक IRDAI के आंकड़े के मुताबिक, इससे पूर्व वित्त वर्ष 2019-20 में सभी साधारण बीमा कंपनियों का सकल प्रीमियम संग्रह 1,88,916.61 करोड़ रुपये था. कुल 25 साधारण बीमा कंपनियों का कुल प्रीमियम 2020-21 में 3.35 प्रतिशत बढ़कर 1,69,840.05 करोड़ रुपये रहा जो एक साल पहले 2019-20 में 1,64,328.20 करोड़ रुपये था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

The Latest

To Top